जिंदगी में कभी भी हार नहीं माननी चाहिए। कक्का को किसी की नजर न लगे।

15 अगस्त 1947 गोरे गए तो गए... ठीक है। पर गोरियां क्यों गई?  
उनसे तो कोई शिकायत नहीं थी हमें।
आज-कल की बेटियां भी बेटों से कम नहीं।
मजाल है कि घर का कोई भी काम कर लें।
मन ही मन बहुत बुरा लगता है जब सामने वाला हम से हाथ मिलाकर ....हमारे सामने ही हाथ सैनिटाइज करने लगता है।
चंदू ने फैसला लिया कि अब वो शराब नही पीयेगा । शराब पीने से इंसान के फेंफड़े किडनी खराब होते हैं और जल्दी मर जाता है । अगर वो केवल 10 साल तक शराब नही पीता तो इतने पैसे से एक कार ले लेता । चंदू ने शराब के पैसे बचाने शुरू किए और 10 साल बाद एक बढ़िया लक्ज़री कार ले ली। 
अगले ही दिन चंदू रोड एक्सीडेंट में मारा गया।
इसलिए अफवाहों पर ध्यान ना दें , खाते पीते रहें।

सरकार को पता चल गया है कालाधन विदेश में नहीं भारत में ही  बाइक और 4 व्हीलर चलाने वालों के पास है जो अब चालान से वसूला जा रहा है।


1 मिनिट में 100 खबरे देने वालो शर्म करो। मेरी बीवी 1मिनिट में 200 बाते सुना देती है।


जो लोग स्कूल के दिनों में सुबह जल्दी उठकर पढ़ते थे।
अब वो ही लोग सबको गुड मॉर्निंग के मैसेज भेजते हैं।
मैं- अगर तुम्हारे पास कोई हुनर है तो उस हुनर को कमाई का ज़रिया बनाओ।
पत्नी - मतलब अब लड़ने के भी पैसे लूँ।
इतनी पढ़ाई करो की चाहे लडकी रिजेक्ट करे, पर लडकी के पापा कभी रिजेक्ट न करे।