गांव के टूर्नामेंट भी अब बड़े लेवल के होने लगे - देसी चीयरलीडर्स

नेकी करो तो ऐसे जैसे शादी शुदा मर्द घर के काम करता है और किसी को खबर भी नही होती है।


लड़कियाँ शादी से पहले सिलाई जरूर सीखती हैं।
ताकि ससुराल जाकर सास और ननद का मुँह सिल सकें।
लड़कों का दिल इतना नाज़ुक होता है। जिस लड़की से भी वह दस मिनट बात कर लें। उसी से प्यार हो जाता है।
मैंने एक बच्चे से पूछा कितना होमवर्क मिल जाता है ऑनलाइन? 
वह बोला मुझे नहीं मिलता मैंने मैडम को ब्लॉक कर रखा है।
मैं चाहता हूँ कि मेरी वाली मुझे ऐसे ढूंढे, जैसे दूसरे गाँव मै बारात के लोग ठेका।
राष्ट्रीय बीमारी- अंदर से अच्छा नहीं लग रहा।
राष्ट्रीय उपचार- थोड़ी देर सो जाओ  फिर अच्छा लगेगा।
मेरे ससुराल वाले इतने सुस्त आलसी है। 
अभी तक मुझे ढूढ नही पाये।
सबको मैं एक तराजू में नही तौलता, क्योंकि तराजू टूटने का डर रहता है।
सावन तो आ गया है
पता नहीं वो मोहब्बत बरसाने वाली लड़की कब आएगी।
केवल इतना बता दो.. कि ये जो मुझे हिचकी आती है, मेरी पोस्ट ना आने पर तुम सब याद करते हो.. या मैं किसी डॉक्टर को दिखाऊँ।